North India Times

- Advertisement -

कौल राज मे हाशिए पर रहे वीरभद्र समर्थकों की नज़र अब पार्टी पदों पर

शिमला : पिछले काफी समय से कांग्रेस की राजनीति से दूर खदेड़े जा चुके वीरभद्र समर्थकों ने अब अपना रुख कांग्रेस भवन की ओर कर लिया है। वह अपनी भरपाई के लिए कांग्रेस कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं। इसी के साथ साथ निष्ठाएं बदलने का क्रम भी यहां देखने को मिल रहा है। पिछले करीब चार वर्षों में जिन वीरभद्र समर्थकों को पार्टी के महत्वपूर्ण पदों से हटा दिया था वह अपनी बहाली के लिए नए प्रदेशाध्यक्ष से संपर्क साध रहे हैं।

हिमाचल प्रदेश में वीरभद्र सिंह नए प्रदेशाध्यक्ष बनाए गए हैं। कहते हैं पूर्व प्रदेशाध्यक्ष कौल सिंह ठाकुर ने करीब 80 फीसदी अपने चहेतों को प्रदेश भर में संगठन के पदों पर बिठा दिया था। कुछ को पार्टी से निलंबित भी किया गया था। ऐसे लोगों के मामले सुल्झाने और संगठन में वीरभद्र के समर्थकों की संखया को बढ़ाने का कार्यक्रम कांग्रेस भवन में चल रहा हैं। नए प्रदेशाध्यक्ष ने अपनी नियुक्ति के तुरंत बाद नई नियुक्तियां कर अपने बहुत से साथियों को संतुष्ट करने का प्रयास किया है।

कहते हैं कि अभी फिलहाल प्रदेश कार्यकारिणी में वीरभद्र समर्थकों को लिए जाने की कार्यवाही को अंजाम दिया जा रहा है। इसके बाद जिला स्तर और फिर ब्लाक स्तर पर इसी प्रकार की कार्यवाही को अंजाम दिया जाएगा और निष्क्रीय हो चुके कांग्रेसियों को सक्रीय किया जाएगा।

कांग्रेस भवन में पिछले माह तक राज करने वाले नेताओं ने वहां से कन्नी काटनी शुरू कर दी है। कुछ नेताओं ने फिर से अपनी निष्ठाएं मौजूद प्रदेशाध्यक्ष के प्रति जतानी शुरू कर दी। वीरभद्र सिंह को एकाएक प्रदेशाध्यक्ष बना दिए जाने से नाराज कांग्रेस के नेताओं ने भाजपा के नेताओं से संपर्क स्थापित कर लिया है। कुछ की भाजपा में चले जाने की अटकलें लगाई जा रही हैं। जबकि भाजपा व अन्य पार्टियों में जा चुके नेताओं को पुनः कांग्रेस में वापस लाने के लिए भी कार्यक्रम तैयार किया जा रहा है।

Tags: Virbhadra Singh, Kaul Singh, Himachal , Congress

Leave A Reply

Your email address will not be published.