North India Times
hpgovt_campaign_latest

दिल्ली के छात्रों ने नेत्रहीनों के लिए बनाया कम कीमत वाला ब्रेल लिपी की-बोर्ड

गुरू तेग बहादर इंस्टीटियूट ऑफ टैक्नोंलॉजी  हैकथान में दूसरे नंबर पर

बीटेक के छात्रों ने गुरसेवक सिंह, अक्ष्य प्रभाकर, मनिन्दर सिंह एवं कर्ण नेत्रहीनों के लिए कम कीमत पर ब्रेल लिपी का की-बोर्ड तैयार किया। इस की-बोर्ड की सहायता से वॉइस चैट, टैक्सट चैट एवं टाईपिंग भी की जा सकेगी |

0 28

Warning: A non-numeric value encountered in /home/northcyp/public_html/wp-content/themes/publisher1/includes/func-review-rating.php on line 212

Warning: A non-numeric value encountered in /home/northcyp/public_html/wp-content/themes/publisher1/includes/func-review-rating.php on line 213

गुरू तेग बहादर इंस्टीटियूट ऑफ टैक्नोलॉजी,  दिल्ली के बीटेक के छात्रों ने गुरसेवक सिंह, अक्ष्य प्रभाकर, मनिन्दर सिंह एवं कर्ण सिंह शामिल थे। जिन्होंने नेत्रहीनों के लिए कम कीमत पर ब्रेल लिपी का की-बोर्ड तैयार किया। इस की-बोर्ड की सहायता से वॉइस चैट, टैक्सट चैट एवं टाईपिंग भी की जा सकेगी |

इस इन्स्टिट्यूट के छात्रों ने अल्ट्राहैक फिनलैंड द्वारा नोएडा में करवाई गई हैकथान प्रतियोगिता में दूसरा स्थान प्राप्त किया|

इस संस्थान के छात्रों ने इससे पहले भी कैनेडा की यूनिवर्सिटी ऑफ टोरांटों में हुए हैकथान में भी बीटेक के विद्यार्थी रहिराज मैदान, दी़क्षा कौर वालिया एवं प्रभजोत कौर की टीम ने प्रथम स्थान प्राप्त किया था। इसके साथ ही एशिया लेवल पर आई.टी. बाम्बे एवं इंडिया लेवल की एन.एस.आई.टी. द्वारा करवाई गई हैकथान में भी प्रथम स्थान प्राप्त किया था।

कैरियर 360 वैबसाईट द्वारा गुरू तेग बहादर इंस्टीट्यिट ऑफ टैक्नोलॉजी जी-8 एरिया को पहला रैंक दिया गया है। गुरू तेग बहादर इंस्टीट्यिट ऑफ टैक्नोलॉजी -8 एरिया में तकनीकी कार्यशाला के आयोजन कर विद्यार्थियों को 4से 6 सप्ताह का प्रशिक्षण भी दिया जाता है ताकि वह तकनीकी क्षेत्र में बड़ी उपलब्धियां प्राप्त कर अपना एवं देश का नाम रोशन कर सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.