North India Times

पंजाब में कौन ले रहा है गुंडा टैक्स !

गुंडा टैक्स को ले कर शिकायत करने वालों के खिलाफ बदले की कार्यवाही बर्दाश्त नहीं होगी :आप

‘आप’  द्वारा जारी बयान में हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि शिकायतकर्ता और क्रेशर एसोसिएशन के सीनियर मीत प्रधान रणजीत सिंह तेजा और मीत प्रधान ब्रिज मोहन के स्क्रीनिंग प्लांटों को खनन विभाग की तरफ से सील करना सीधे तौर पर रेत माफिया के विरुद्ध उठती आवाजों को दबाने की ‘सरकारी कोशिश’ है। जिस को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। 

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के सीनियर व प्रतिपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा और पार्टी की व्यापार विंग की प्रधान नीना मित्तल ने रेत माफिया की ओर से बेखौफ हो कर वसूले जाते गुंडा टैक्स का विरोध और शिकायत करने वाली मुबारिकपुर क्रेशर एसोसिएशन के अधिकारियों पर ही खनन विभाग की कार्यवाही का सख्त नोटिस लेते इस को रेत माफिया के दबाव तले बदले की कार्यवाही करार दिया है।

‘आप’  द्वारा जारी बयान में हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि शिकायतकर्ता और क्रेशर एसोसिएशन के सीनियर मीत प्रधान रणजीत सिंह तेजा और मीत प्रधान ब्रिज मोहन के स्क्रीनिंग प्लांटों को खनन विभाग की तरफ से सील करना सीधे तौर पर रेत माफिया के विरुद्ध उठती आवाजों को दबाने की ‘सरकारी कोशिश’ है। जिस को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह जब अपनी, विदेशी छुट्टियां बीता कर पंजाब आ गए तो ‘आप’ विधायक और नेताओं का वफद राज्य में बेलगाम हुए रेत माफिया को नकेल डालने के लिए दबाव डालेगा।

हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि यदि कैप्टन अमरिन्दर सिंह रेत माफिया को सरकारी सरप्रस्ती जारी रखती हैं तो आम आदमी पार्टी कैप्टन अमरिन्दर सिंह के घर का घेराव कर आंखें बंद किए बैठी सरकार को जगाएगी।

नीना मित्तल ने कहा कि गुंडा टैक्स के विरुद्ध एसडीएम खरड़ और डेराबस्सी को शिकायत करने वाले कारोबारियों के विरुद्ध तुरंत खनन विभाग की कार्यवाही ने साबित कर दिया है कि सरकारी-तंत्र और माफिया किस हद तक एकजुट हैं।

नीना मित्तल ने कहा कि सरकारी-तंत्र की ओर से गुंडा टैक्स के विरुद्ध आवाज बुलंद करने वाले कारोबारियों पर माफिया के साथ समझौता करने का दबाव डालना समूची सरकार के लिए शर्मनाक व्यवहार है। नीना मित्तल ने कहा कि सरकारों की विरोधी नीतियों के कारण पहले ही वित्तीय संकट का सामना कर रहे व्यापारियों-कारोबारियों और उद्योगपतियों को सरकार माफिया से बचाने की बजाए माफिया के दबाव में आ कर ओर दबाना की गलत नीतियों पर चल रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.