North India Times

स्मार्ट सिटी चंडीगढ़ में पानी के लिए तरसे लोग

स्मार्ट सिटी की शर्तें पूरी नहीं करता चंडीगढ़ !

इस साल के शुरुआत में चंडीगढ़ नगर निगम में शामिल हुए 13 गांव ,-खासकर दरिया और किशनगढ़ -में पानी की किल्लत है। इसके अलावा शहर के कई हिस्सों में पानी की आपूर्ति सही नहीं है।

सिटी ब्यूटीफुल के नाम से प्रसिद्ध उत्तर भारत के प्रमुख चंडीगढ़ शहर के कई हिस्सों में पेयजल संकट गहरा गया है ।

शहर के कई हिस्सों में टैंकरों के जरिए पानी की आपूर्ति की जा रही है।.

जनवरी 2019 में चंडीगढ़ नगर निगम में शामिल किये गए तेरह गांवों में पिछले दो महीनों से पानी के लिए हाहाकार मची है।

आप वीडियो में देख सकते हैं लोग पानी के खाली बर्तन लेकर चंडीगढ़ नगर निगम के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं।

नारेबाजी कर रहे ज्यादातर लोगों में महिलाएं शामिल हैं।.

हमें पानी दो …हमें पानी दो… हमें पानी दो के नारे लगा कर पानी की किल्लत झेल रहे लोगों ने चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन के सामने मटका फोड़ प्रदर्शन किया।

महिलाएं सिर पर मिट्टी के मटके लेकर घरों से निकली और चंडीगढ़ नगर निगम के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया ।

बाद में रोष स्वरूप इन मटकों को सड़क पर फोड़ दिया गया।

गांव के लोगों ने कहा कि नगर निगम ने उनकी पंचायत को अपने अधिकार क्षेत्र में शामिल तो कर लिया लेकिन पानी और बिजली की सुविधाएं नहीं दी ।

उन्होंने कहा कि वह नगर निगम के अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर काट कर तंग आ चुके हैं लेकिन कोई हल नही निकला

समझ नहीं आता कि चंडीगढ़ को स्मार्ट सिटीज की सूची की सूची में कैसे शामिल कर लिया गया क्योंकि स्मार्ट सिटीज की पहली शर्त पीने के पानी की पर्याप्त आपूर्ति है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.