North India Times

- Advertisement -

खट्टर ने हरियाणा में मेट्रो रेल का जाल बिछाने के आदेश दिए

वर्तमान में हरियाणा में 40 किलोमीटर लम्बाई का देश का सबसे अधिक मैट्रो रेल नेटवर्क उपलब्ध है

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को इस बात की संभावनाएं तलाशने के भी निर्देश दिए कि वे हरियाणा मैट्रो रेल परिवहन निगम के माध्यम से ट्राईसिटी चंडीगढ़ में भी मैट्रो रेल परियोजना के प्रस्ताव पर कार्य करे।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सोमवार चण्डीगढ में हरियाणा राज्य में दिल्ली मैट्रो रेल परियोजनाओं की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की।

मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि राज्य में पडऩे वाली सभी मैट्रो रेल परियोजनाओं का नियंत्रण हरियाणा मैट्रो रेल परिवहन निगम के अधीन लाया जाए ताकि हमें दिल्ली मैट्रो रेल निगम व आरआईटीईएस जैसी संस्थानों पर निर्भर न रहना पड़े।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को इस बात की संभावनाएं तलाशने के भी निर्देश दिए कि वे हरियाणा मैट्रो रेल परिवहन निगम के माध्यम से ट्राईसिटी चंडीगढ़ में भी मैट्रो रेल परियोजना के प्रस्ताव पर कार्य करे।

मैट्रो कॉरिडोर: राज्य में फैलेगा मेट्रो रेल विस्तार

बैठक में मुख्यमंत्री ने जिन नई मैट्रो रेल परियोजनाओं की समीक्षा की है उनमें नरेला से कुण्डली मैट्रो कॉरिडोर जिसकी लम्बाई 4.86 किलोमीटर होगी, जिसे राजीव गांधी एजुकेशन सिटी तक विस्तारित किया जाएगा, गुरुग्राम और फरीदाबाद के बीच लगभग 30.38 किलोमीटर लम्बाई का मैट्रो कॉरिडोर, सिटी पार्क (बहादुरगढ़) से सांपला 17.10 किलोमीटर लम्बाई का मैट्रो कॉरिडोर, 23.10 किलोमीटर लम्बाई का मैट्रो कॉरिडोर जो की बाढ़सा (एम्स और राष्ट्रीय कैंसर संस्थान) और द्वारका (वाया एनपीआर) के बीच होगा।

इसी प्रकार, एसपीआर तथा सैक्टर 56 तथा वाटिका चौक, गुरुग्राम के बीच 6.30 किलोमीटर लम्बाई का मैट्रो कॉरिडोर शामिल हैं।

बैठक में इस बात की जानकारी दी गई कि वर्तमान में हरियाणा में 40 किलोमीटर लम्बाई का देश का सबसे अधिक मैट्रो रेल नेटवर्क उपलब्ध है, जिसे भविष्य में दिल्ली मैट्रो रेल निगम के चौथे चरण में 75 से 80 किलोमीटर तक विस्तारित करने का प्रस्ताव है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.