North India Times
North India Breaking political, entertainment and general news

बर्फ से आई आफ़त : कुदरत का कहर और नाकाम प्रशासन

0 742

Warning: A non-numeric value encountered in /home/northcyp/public_html/wp-content/themes/publisher1/includes/func-review-rating.php on line 212

Warning: A non-numeric value encountered in /home/northcyp/public_html/wp-content/themes/publisher1/includes/func-review-rating.php on line 213
shimla_snowfall
उपर: पेड़ गिरने से टूटी तारों के उपर से गुज़रते दो लोग
नीचे: शिमला में सड़क से बर्फ हटाते शिमला नागरिक सभा के सदस्य

शिमला:हिमाचल की नई सरकार को सत्ता संभालते ही सर्दी लग गई है| यूँ कहें की निमोनिया हो गया है तो ग़लत ना होगा| प्रदेश के कही हिस्सों में हुए भारी हिमपात ने भारी तबाही मचाई है| और इलाक़ो की क्या बात करें राजधानी शिमला के कई हिस्सों में पिछले छ: दिन से ना पानी है और ना ही बिजली| शिमला जिला के ठियोग , नारकंडा, रोह्डू, चौपाल और खड़ा पत्थर जगहों पर लगभग एक हफ्ते से अंधेरा छाया हुआ है| इंटरनेट, मोबाइल तो दूर की बात ,इन इलाक़ों में पानी की लिफ्टिंग भी बंद है|

सड़कें बंद है और बसें बर्फ में फँसी पड़ी हैं| लालची दुकानदार खाने-पीने की चीज़ों के दुगने दाम वसूल  रहे हैं| सड़कें बंद होने से लोगों को दूध,ब्रेड,अंडे,सब्जियाँ आदि नही मिल रहे है| प्रदेश के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है की शिमला जिला के आधा दर्जन नगरों और दर्जनों गावों में अंधकार छाया है|

बिजली बोर्ड और लोक निर्माण महकमों की पॉल खुल चुकी है| मंगलवार को शिमला की नागरिक सभा के ७३ सदस्यों ने मिल कर इंदिरा गाँधी  मेडिकल कालेज के ब्लड-बैंक को जाने वाले रास्ते से खुद बर्फ हटाई| देश के सबसे पुराने नगर निगम शिमला के पास बर्फ हटाने के लिए स्नो-कॅटर नही है| लोग परेशान है और अधिकारी इधर-उधर की हांक रहे हैं|

प्रदेश के सौ से ज़्यादा मार्ग बंद हैं| लोग जगह-जगह फँसे पड़े हैं| बसें नही चल रही| अस्पतालों का बुरा हाल है| लोग फिसल कर हड्डियाँ तुड्वा रहे हैं| कुफरी में गिरे एक पर्यटक की तो मौत हो चुकी है| किंनौर में सात लोग जान गवाँ चुके हैं| एक तो कुदरत का कहर और उपर से लाचार सरकार | कोई जाए तो कहाँ जाए |
Shimla,snow,road, water, power,administration,IGMC,municipal corporation ,

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.