वीरभद्र सिंह को भारी राहत, कोर्ट ने नही मानी जमानत रद्द करने की अपील

शिमला: शनिवार का दिन पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के लिए तब भारी राहत ले कर आया जब शिमला की एक अदालत ने उनकी जमानत रद्द करने के लिए दायर की गई याचिका की अस्वीकार कर दिया| वीरभद्र सिह 23 साल पुराने एक भ्रस्टाचार मे मामले मे जमानत पर है|

इससे पूर्व पब्लिक प्रोसिकयूटर जीवन लाल शर्मा ने कोर्ट मे कहा था की इस मामले मे जाँच कर रही एजेंसी के पास पर्याप्त सबूत है और मामले के गवाहॉ को प्रभावित किया जा रहा है|

उधर बचाव पक्ष ने कहा की जिन तथ्यों को सबूत माना जा रहा है उनका कोई क़ानूनी आधार नही है और जिन गवाहों को प्रभावित किया जा रहा है उनको जाँचा जाए|

मामला वर्ष 1989 का है जब वीरभद्र सिह मुख्यमंत्री थे | उनके राजनीतिक विरोधी विजय सिह मनकोटिया ने 2007 मे एक सीडी जारी करके वीरभद्र सिह, उनकी पत्नी प्रतिभा सिह और शिमला के तत्कालीन ज़िलाधीश महेंद्र लाल ( अब स्वर्गीय) के एक वार्तालाप जिसमे कुछ पैसों के लेनदेन की चर्चा है को उजागर किया था|

वीरभद्र सिह इस मामले को राजनीति से प्रेरित बताते आए है| उधर उनकी जमानत रद्द ना होने से भाजपा को करारा झटका लगा है|

Tags: Shimla, Virbhadra Singh, CD,bail, Himachal Pradesh

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.