North India Times
hp_govt_corona_ad

भारत भूषण आशु आतंकवादी कनैक्शन और डीजीपी का बयान गंभीर मामले : आप

अजीत डोभाल के इशारे पर की डीजीपी ने श्री करतारपुर साहिब के संदर्भ मे टिप्पणी

आम आदमी पार्टी के नेता और पंजाब में विपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि है कि डीजीपी पंजाब का श्री करतारपुर साहिब के संदर्भ में दिया बयान और कैबिनेट मंत्री भारत भूषण आशु का आतंकवादी कनैक्शन  बेहद गंभीर मुद्दे हैं और आम आदमी पार्टी इन मुद्दों पर लोगों की कचहरी में जा कर अंत तक की लड़ाई लड़ेगी।

हरपाल सिंह चीमा विधान सभा प्रैस गैलरी में अपने साथी विधायकों के साथ मीडिया के रूबरू हुए।चीमा ने बीते दिन मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की ओर से सदन में डीजीपी दिनकर गुप्ता और मंत्री भारत भूषण आशु को दिए कालीन चिट्ट पूरी तरह से रद्द कर दी है।

दिनकर गुप्ता के ब्यान के पीछे अजित डोवाल का दिमाग : आप

हरपाल सिंह चीमा ने आरोप लगाया कि डीजीपी दिनकर गुप्ता की तरफ से पंचकुला में श्री करतारपुर साहिब संबंधी दिया गया बयान यूं ही नहीं दिया गया था, यह देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के इशारे पर दिया गया बयान है। चीमा ने यह भी कहा कि दिनकर गुप्ता की नियुक्ति भी केंद्र सरकार के दबाव के अधीन हुई है। उन्होंने यह भी कहा कि डीजीपी और कैप्टन अमरिन्दर सिंह पूरी तरह भाजपा और आरएसएस की भाषा बोल रहे हैं जो पंजाब और देश की एकता अखंडता और भाईचारक सांझ के लिए खतरा है।

चीमा ने अंदेशा जताया कि कुछ एजेंसियां 2022 के चुनाव से पहले पंजाब में मौड़ बम धमाके की तर्ज पर अशांति फैला सकती हैं। उन्होंने मौड़ बम धमाके जिस में 4 बच्चों समेत 9 व्यक्तियों की जान चली गई थी, का अभी तक आरोपी न पकड़े जाने पर भी सवाल उठाए। चीमा ने भारत भूषण आशु के मामले पर कहा कि ‘आप ’ की लीगल विंग की टीम आशु से सम्बन्धित मामले को हाईकोर्ट में ले कर जाएगी।

क्या है दिनकर गुप्ता और भारत भूषण आशु से जुड़े विवाद

पंजाब पुलिस प्रमुख दिनकर गुप्ता ने हाल ही कहा था की करतारपुर साहिब खुलने से सुरक्षा ताक पर है और वहां जाने वाले श्रद्धालु आईएसआई के इशारे पर आतंकवादी बनाये जा सकते हैं | हालाँकि गुप्ता ने अपने ब्यान पर माफ़ी मांग ली थी लेकिन विपक्ष इस मुद्दे को भुनाने में लगा है और दिनकर गुप्ता को पद से हटाने की मांग की जा रही है |

पंजाब पुलिस के सस्पेंडेड डीएसपी बलविंदर सिंह सेखों ने मंत्री भारत भूषण आशु पर आरोप लगाए हैं की 28 साल पहले उनके सम्बन्ध खालिस्तानी आतंकवादियों के साथ थे और उन्होंने 1992 में लुधिअना की गुड़ मंडी में एक बम ब्लास्ट करवाया था |

Leave A Reply

Your email address will not be published.