North India Times
North India Breaking political, entertainment and general news

चक्रवाती तूफान ने सुपर साइकलोन का रूप लिया ,मोदी ने अम्‍फन से निपटने के उपायों की समीक्षा की

यह तूफान अब बंगाल की खाड़ी के पश्चिम-मध्य और आसपास के मध्य क्षेत्रों में केंद्रित है

58

Warning: A non-numeric value encountered in /home/northcyp/public_html/wp-content/themes/publisher1/includes/func-review-rating.php on line 212

Warning: A non-numeric value encountered in /home/northcyp/public_html/wp-content/themes/publisher1/includes/func-review-rating.php on line 213

Amphan चक्रवाती तूफान ने सुपर साइकलोन का रूप लिया, मछुआरों को तटीय इलाकों में नहीं जाने की सलाह दी गई है। चक्रवाती तूफान अम्फन तेज होकर सुपर साइक्लोन में बदल गया है। यह तूफान अब बंगाल की खाड़ी के पश्चिम-मध्य और आसपास के मध्य क्षेत्रों में केंद्रित है। बीस मई की दोपहर तक यह पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्लादेश के हटिया द्वीप को पार करके सुंदरबन के निकट पहुंच जाएगा। इस दौरान एक सौ पैंसठ से एक सौ पिचासी किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी चलने की आशंका है।

आंध्र प्रदेश के अमरावती में मौसम विभाग के अनुसार तूफान के कारण आंध्र के उत्तरी तटीय क्षेत्र और यनम में मूसलाधार बारिश हो सकती है। आंध्र प्रदेश के समुद्र तटीय इलाकों में 50 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से आंधी चल सकती है। राज्य के तटीय क्षेत्रों में इस तूफान का असर दिखना शुरू हो गया है।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने बंगाल की खाडी में चक्रवात तूफान अम्‍फन से निपटने के उपायों की समीक्षा की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान अम्फन से निपटने के उपायों की समीक्षा के लिए उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की। प्रधानमंत्री ने स्थिति का जायजा लिया और तूफान से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की। इस दौरान राष्ट्रीय आपदा कार्रवाई बल-एनडीआरएफ ने तूफान की आशंका वाले क्षेत्रों से लोगों को निकालने की योजना के बारे में प्रस्तुति भी दी। बल के महानिदेशक ने बताया कि एनडीआरएफ ने 25 टीम तैनात की हैं, जबकि 12 तैयार रखी गई हैं। देश के विभिन्न भागों में एनडीआरएफ की 24 टीम किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।

बाद में, प्रधानमंत्री ने ट्वीटर पर सभी की सुरक्षा के लिए प्रार्थना की और केंद्र सरकार की तरफ से हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया।

नई दिल्ली में इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, प्रधानमंत्री के प्रधान सलाहकार पी.के. सिन्हा, कैबिनेट सचिव राजीव गाबा के अलावा अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

You might also like

Comments are closed.