North India Times
North India Breaking political, entertainment and general news

टिड्डी हो या कोरोना मोदी बजवाये बस ताली और थाली : कांग्रेस

नष्ट हुई फसलों की स्पेशल गिरदावरी करवाकर सभी किसानों को ‘विशेष राहत पैकेज’ दिया जाए : कांग्रेस

0 32

Warning: A non-numeric value encountered in /home/northcyp/public_html/wp-content/themes/publisher1/includes/func-review-rating.php on line 212

Warning: A non-numeric value encountered in /home/northcyp/public_html/wp-content/themes/publisher1/includes/func-review-rating.php on line 213

कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि मोदी सरकार कोरोना वायरस और टिड्डी दल के आक्रमण का सही समाधान बताने के बजाये लोगों को ताली और थाली बजाने की सलाह दे रही है|

“टिड्डी दल का यह आक्रमण देश पर लगातार 75 दिनों से जारी है। मगर मोदी सरकार इस हमले का न तो समाधान बताती, न किसानों को सहायता पहुँचाती। लगता है कि सरकार पूरी तरह बेखबर होकर सोई हुई है” कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा |

रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा  कि कभी तो देश की निकम्मी सरकार कोरोना माहमारी से निपटने के समाधान के लिए ताली-थाली बजवाती है, तो कभी टिड्डी दल से निपटने के लिए भी यही हल बताती है। क्या सरकार के पास कोई और वैज्ञानिक व तर्कपूर्ण समाधान नहीं बचा? ” कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा।

कांग्रेस की मांग

  • टिड्डी दल के हमले को भारत सरकार के कृषि विभाग व एनडीएमए द्वारा ‘नैचुरल डिज़ास्टर’ की परिभाषा में शामिल कर फसल बीमा योजना के तहत किसानों को मुआवज़ा दिया जाए।
  • नष्ट हुई फसलों की स्पेशल गिरदावरी करवाकर सभी किसानों को ‘विशेष राहत पैकेज’ दिया जाए।
  • 75 दिन से अधिक से खेती, पेड़-पौधे व सब वनस्पतियों पर चल रहे इस आक्रमण का वैज्ञानिक व तर्कसंगत हल निकाला जाए।

आज देश में दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, पंजाब, गुजरात, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ व पश्चिमी उत्तर प्रदेश में टिड्डी दल ने हमला बोल रखा है।

अब इस हमले की आँच देश की राजधानी दिल्ली तक भी पहुँच गई है। इन राज्यों के 84 से अधिक जिलों के किसान, खेत खलिहान, पेड़ पौधे व वनस्पति पाकिस्तान से आए टिड्डी दल के हमले से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं।

इस टिड्डी दल ने भारत में पहला हमला 11 अप्रैल, 2020 को राजस्थान के गंगानगर में बोला था

मगर दुर्भाग्यपूर्ण बात यह है कि मोदी सरकार टिड्डी दल के दिल्ली तक हमला करने पर भी नहीं जागी है। बताया जा रहा है कि टिड्डी दल का यह हमला 60 साल बाद देश की राजधानी में हुआ है। यह टिड्डी दल 10 किलोमीटर लंबा और 7 किलोमीटर चैड़ा बताया गया है।

आज किसानों की दस लाख हेक्टेयर से अधिक टिड्डी दल साफ कर चुका है

मगर देश के किसान को कोई राहत नहीं। श्री राहुल गांधी ने सरकार को बाकायदा आगाह किया, पर कोरोना की तरह ही, टिड्डी दल को रोकने के उपाय करने बारे सरकार के कान पर जूँ तक नहीं रेंगी। और अब बीमा कंपनियां फसल बीमा योजना में टिड्डी दल से हुए नुकसान का मुआवजा तक देने से इंकार कर रही हैं, क्योंकि प्रधानमंत्री ने टिड्डी दल के हमले को ‘नैचुरल डिज़ास्टर’ की परिभाषा में शामिल ही नहीं किया।

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.