North India Times
hpgovt_campaign_latest

कोरोना संकट में लोगों का खून चूस रहा है सेंट ज़ेवियर स्कूल

माता-पिता से ₹8000 की डेवलपमेंट फीस के अलावा ₹400 कंप्यूटर की फीस भी मांग ली

14

Warning: A non-numeric value encountered in /home/northcyp/public_html/wp-content/themes/publisher1/includes/func-review-rating.php on line 212

Warning: A non-numeric value encountered in /home/northcyp/public_html/wp-content/themes/publisher1/includes/func-review-rating.php on line 213

शुक्रवार को लोगों का गुस्सा चंडीगढ़ के प्रसिद्ध सेंट जेवियर प्राइवेट स्कूल मैनेजमेंट के खिलाफ भड़का।

लोगों ने स्कूल के बाहर इकट्ठे होकर स्कूल के खिलाफ नारेबाजी की और स्कूल प्रबंधन को बेनकाब करने के लिए बच्चों के माता-पिता ने फीस जमा करवाने के लिए भेजे जा रहे मैसेज मीडिया को दिखाए।

सेंट जेवियर में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स के पेरेंट्स का आरोप है कि स्कूल प्रबंधन सरकार के आदेशों की परवाह किए बगैर उनको ना केवल तीन महीनों की फीस जमा करवाने को कह रहा है बल्कि उन पर बिल्डिंग फंड और कंप्यूटर फीस जमा करवाने का दबाव भी बनाया जा रहा है।

सेंट जेवियर स्कूल प्रबंधन की बेशर्मी का अंदाजा सिर्फ इसी बात से लगाया जा सकता है कि कुरौना संक्रमण के बाद लॉक डाउन के कारण अपनी रोजी-रोटी गँवाने वाने वाले माता-पिता से ₹8000 की डेवलपमेंट फीस के अलावा ₹400 कंप्यूटर की फीस भी मांग ली । जबकि बच्चों ने लॉक डाउन के दौरान कंप्यूटर का इस्तेमाल ही नहीं किया।

चंडीगढ़ प्रशासन ने निजी स्कूलों को आदेश दिया था कि वह पेरेंट्स से सिर्फ ट्यूशन फी मांग सकते हैं वह भी सिर्फ दो महीनों की। लेकिन सेंट जेवियर स्कूल की मैनेजमेंट ने बेशर्मी की हदें पार करते हुए अभिभावकों को तीन महीनों की फीस पूरी फीस जमा करवाने को कह दिया जिससे माता-पिता भड़क गए।

अभिभावकों का आरोप है कि स्कूल प्रबंधन ने बेशर्मी की सारी हदें पार करते हुए फीस में 20 फ़ीसदी का इज़ाफ़ा कर दिया जो उनके बूते से बाहर है।

Comments are closed.