North India Times
hpgovt_campaign_latest

30 लाख ₹ नही लौटाने पर हुई थी टिक-टाक स्टार मोहित की हत्या

खुद मंजीत मुहाल गैंग की मदद वे रहा था मोहित। पहलवान गैंग ने किया था मर्डर

दिल्ली पुलिस ने संदीप पहलवान गैंग के एक नाबालिग सदस्य को को गिरफ्तार कर लिया है लेकिन गैंग लीडर संदीप पहलवान उर्फ सिलोटिया और दो अन्य गैंगस्टर उसकी पकड़ से बाहर है ।

0 85

Warning: A non-numeric value encountered in /home/northcyp/public_html/wp-content/themes/publisher1/includes/func-review-rating.php on line 212

Warning: A non-numeric value encountered in /home/northcyp/public_html/wp-content/themes/publisher1/includes/func-review-rating.php on line 213

मुखबिर की सूचना के आधार पर हुई आरोपी की गिरफ्तारी

दिल्ली पुलिस के विशेष सेल ने 21 मई 2019 को नजफगढ़ में हुई टिक टॉक स्टार मोहित मोर की हत्या में शामिल एक नाबालिग गैंगस्टर को गिरफ्तार कर लिया है।

17 साल 6 महीने की उम्र का यह गैंगस्टर पिछले महीने ही संदीप पहलवान उ उर्फ सिलोटिया गैंग में शामिल हुआ था। हालांकि उसकी मृतक मोहित मोर से कोई दुश्मनी नहीं थी लेकिन संदीप पहलवान के कहने पर उसने गैंग के दो साथियों से मिलकर दिनदहाड़े उसकी हत्या कर दी थी।

मोहित की हत्या के पीछे पहलवान गैंग का हाथ

सूत्रों के मुताबिक नाबालिग गैंगस्टर को गैंग लीडर संदीप पहलवान ने 23 मई को नजफगढ़ के भूंखडी रोड पर बुलाया। उसके साथ विकास उर्फ पीके और मोहित मलिक नाम के गैंगस्टर भी मौजूद थे ।संदीप ने इन तीनों को एक-एक पिस्तौल दी और मोहित का पता बता कर उसकी हत्या करने को कहा ।तीनों गैंगस्टर एक स्कूटी पर सवार होकर संदीप के जिम गए और एक -एक करके उसके जिस्म में 13 गोलियां उतार दी और उसके बाद फरार हो गए।

मामले की जांच कर रहे दिल्ली पुलिस के इंस्पेक्टर तिलक चंद बिष्ट को 23 मई को एक मुखबिर ने सूचना दी थी कि संदीप पहलवान गैंग का एक गैंगस्टर दिल्ली के द्वारिका आ रहा है। पुलिस ने राधेश्याम रोड इंटरसेक्शन पर नाकाबंदी करके नाबालिक गैंगस्टर को गिरफ्तार कर लिया।

मृतक ने 30 लाख रुपए नही लौटाए तो कर दी हत्या

गिरफ्तार किए गए गैंगस्टर ने पुलिस को बताया कि मोहित मोर ने संदीप पहलवान गैंग के जरिए मंगू नामक एक व्यक्ति से 30 लाख ₹ लिए थे जिसे एक प्लॉट में इन्वेस्ट किया गया था ।मोहित बार-बार मांगने पर भी मंगू को पैसे नहीं लौटा रहा था ।इस बीच मंगू की हत्या कर दी गई और मोहित ने पैसे न लौटाने के नजरिए से विकास दलाल और प्रदीप सोलंकी नामक गैंगस्टरों की मदद से मंजीत महाल नामक दूसरी गैंग से संरक्षण लेने की कोशिश की जो पहलवान गैंग को मंजूर नहीं थी। मंगू की हत्या के बाद पिछले हफ्ते हुई एक गैंगवार में विकास दलाल की भी हत्या कर दी गई। मंगू के आदमियों ने मोहित से पैसे मांगे तो उसने लौटाने से इंकार कर दिया ।उसके बाद पहलवान गैंग ने नाबालिग गैंगस्टर के जरिए उसकी हत्या करवा दी।

दिल्ली पुलिस ने संदीप पहलवान गैंग के एक नाबालिग सदस्य को को गिरफ्तार कर लिया है लेकिन गैंग लीडर संदीप पहलवान उर्फ सिलोटिया और दो अन्य गैंगस्टर उसकी पकड़ से बाहर है ।

दिल्ली में लगातार हो रही गैंगवार से दिल्लीवासियों के मन में खौफ पसार रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.